एसटीएफ ने पकड़े बड़े घोटालेबाज,देशव्यापी बड़े खेल के खुलासे के आसार

ख़बर शेयर करें
पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार,एसएसपी stf अजय सिंह

स्पेशल टास्क फोर्स उत्तराखण्ड द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर वाहनो का बीमा कराने वाली कम्पनियों के पोर्टल की तकनिकी खामियों का फायदा उठा कर सरकार को करोडो रूपये का चूना लगाने वाले गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार किया गया

गिरफ्तार आरोपी
स्पेशल टास्क फोर्स उत्तराखण्ड द्वारा विगत कुछ समय से सूचना प्राप्त हो रही थी कि देहरादून में चार पहिया व कमर्शियल वाहन के बीमा वास्तविक कीमत से बहुत ही काम रेट पर हो रहे है और जिसको आनॅ लाईन आर0टी0ओ0 की वेबसाईट या किसी भी पोर्टल पर चैक करने पर वह बीमा सही(वैलिड )प्रदर्षित होता है। 

इस सम्बन्ध में एस0टी0एफ0 द्वारा आर0टी0ओ0 कार्यालय के बाहर से 03 व्यक्तियों 1.प्रदीप गुप्ता पुत्र स्व0 श्री सन्तराम नि0 4/9 इन्दिरा कालोनी, देहरादून, 2.मसॅूर हसन पुत्र मजूंर अहमद नि0 ब्रहमपुरी निरंजनपुर, थाना पटेल नगर देहरादून , 3.महमूद पुत्र नि0 मुष्ताक विहार, नि0 रक्षा विहार, निकट आँचल डेरी, रायपुर रोड , देहरादून तथा4. नीरज कुमार गुप्ता पुत्र जनेष्वर गुप्ता नि0 अनादित्य विहार कालोनी, जनता रोड,को सहारनपुर उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ में ज्ञात हुआ कि वर्ष 2018 व इसके बाद कोविड के दौरान सभी कम्पनियों द्वारा आन लाईन इन्शुरन्स(insurance) की सुविधा देनी शुरू कर दी थी जिसमें की पे-टीएम, फोन-पे एवं पोलिसी बाजार द्वारा आनॅ लाईन बीमा कराने के एड देने शुरू कर दिये, जिसमें कि ग्राहक और एजेन्टों के द्वारा आनॅलाईन पे-टीएम, फोन-पे एवं पोलिसी बाजार के माध्यम से HDFC ERGO GENRAL INSURANCE COMPANY LIMITED , RELIANCE GENRAL INSURANCE , BAJAJ ALLIANZ GENRAL INSURANCE COMPANY LTD जैसे कम्पनी से अपने वाहनो का बीमा कराया जाता है। 

ठगी करने वाले व्यक्त्यिों द्वारा उपरोक्त प्रकार की एजेन्सियों का एजेन्ट बनकर अपना रजिस्ट्रेशन नम्बर के माध्यम से बीमा करते है। बीमा कराने के दौरान चार पहिया वाहन का नम्बर वास्तविक दिया जाता है परन्तु पेमेन्ट की कैलकुलेशन के समय दो पहिया वाहन का चयन कर उसका बीमा दो पहिया वाहन का किया जाता है। जिसका डाटा बीमा कराने वाली कम्पनी के डाटाबेस में चार पहिया का अकिंत होता है परन्तु पेमेन्ट दो पहिया वाहन का जमा होता है। जिससे बीमा के समय दी जाने वाली जीएसटी 18 प्रतिशत जहॅा चार पहिया वाहन की 20,000 पर दी जानी थी वहीं दो पहियां वाहन की मात्र 500 रूपये की जमा होती है।उपरोक्त विवरण आरटीओ की वेबसाईट पर मात्र बीमा होना प्रदर्षित करता है अभियुक्तो द्वारा उसका प्रिन्ट निकाल कर लैपटाप में फोटोशॉप के माध्यम से एडिट करके चार पहिया वाहन व धनराशि को बढा देता है तथा जिसको वह अपने कस्टमर को देता है। वाहन स्वामी के द्वारा आरटीओ में चैक कराने पर वाहन का रजिस्ट्रेषन नम्बर और केवल इन्ष्योरेन्स की वैलिडिटी तिथि प्रदर्षित होती है जिससे ग्राहक को वह असली लगता है।

यह भी पढ़ें 👉  हेट स्पीच मामले में वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी अरेस्ट,डीएम हरिद्वार की सख्ती का असर

देशभर के आर0टी0ओ0 के समस्त कार्य जैसे फिटनेस, वाहन ट्रान्सफर, एनओसी, आईएनडी प्लेट, रजिस्ट्रेषन आदि में बीमा होना आवश्यक होता है जिसे आर0टी0ओ0 कार्यालय द्वारा Ministry of Road Transport & Highways, Government of India के पोर्टल पर चैक करने पर वह वाहन का केवल रजिस्ट्रेशन नम्बर व बीमे की वैलिडिटी दिनाॅक को पारदर्शीत करता है जिसे आरटीओ कार्यालय द्वारा पास कर दिया जाता है। उक्त तकनीकी कमी का फायदा उठाकर देशभर में उक्त प्रकार की ठगी प्रथमद्रष्टया प्रकाश में आ रही है।

जानकारी में आया है कि देश भर में इसी प्रकार से समस्त राज्यो में कुछ एजेन्टो द्वारा इसी प्रकार से बीमा किया जा रहा है, जिससे वाहन स्वामी द्वारा भी कम पैसे के लालच में इस प्रकार का बीमा सर्टिफिकेट प्राप्त कर लिया जाता है।

इस प्रकार की लगभग 24 कम्पनियों द्वारा बीमे की सुविधा देश में आनॅलाईन अलग-अलग प्लेटफार्म के माध्यम से दी जा रही है। उक्त प्रकार के इन्ष्योरेन्स करने वाले गेटवे जैसे पे-टीएम, पे-फोन व पालिसी बाजार जैसे अन्य गेटवे की जानकारी की जा रही है। उक्त घोटाला राजस्व चोरी (जीएसटी) का करोडो में होने का अनुमान है। जिस सम्बन्ध में अन्य विभागो से समन्वय किया जा रहा है।

उपरोक्त खुलासे में विगत एक माह से एसटीएफ की टीम गोपनीय रूप से छानबीन तथा तकनीकी पहलुओं के परीक्षण उपरांत देर रात्रि चार दलालो को पूछताश उपरांत गिरफ्तार किया गया साथ ही एसटीएफ के निरीक्षक. अबुल कलाम द्वारा थाना डालनवाला पर 420, 465, 467, 468, 471 व 120 बी भा0द0वी0 धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कराया गया है

प्रभारी एसटीएफ उत्तराखंड द्वारा मामले की संवेदनशीलता व देश भर में इस प्रकार की ठगी की संभावना व बड़े पैमाने पर राजस्व चोरी(GST) को देखते हुए परिवहन व सेल्स टैक्स विभाग को उचित माध्यम से पत्राचार भी किया जा रहा है

बरामद माल
01 लैपटॉप
01 मोबाइल
फर्जी बीमे से संबंधित दस्तावेज
टीम
नि0 अबुल कलाम
उ0नि0 यादवेंद्र बाजवा
उ0नि0 उमेश कुमार
का0 लोकेन्द्र कुमार
का0 विजेंदर चौहान
का0 महेंद्र नेगी
का0 अनूप भाटी
का0 मोहन असवाल
का0 संदेश यादव

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments